मध्यप्रदेश लोक सेवा गारंटी पोर्टल

सीएम हेल्पलाइन (181) जन हेतु जन सेतु सुशासन की स्थापना मध्यप्रदेश शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। सीएम हेल्पलाइन का प्रारंभ 31 जुलाई 2014 से लोक सेवा प्रबंधन विभाग अन्तर्गत किया गया। कॉल सेंटर पर नागरिक द्वारा शासकीय योजनाओं की जानकारी, शिकायत एवं मांग / सुझाव हेतु सम्पर्क किया जाता है। जो मध्यप्रदेश लोक सेवा गारंटी पोर्टल के नाम से जाना जाता हैं।

मध्यप्रदेश लोक सेवा गारंटी पोर्टल

(www.mpedistrict.gov.in)

सीएम हेल्पलाइन सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की समस्याओं के त्वरित निराकरण की दिशा में अभिनव प्रयास है। इसके जरिए टोल फ्री नंबर 181 पर आमजनों के कॉल रिसीव कर प्राप्त शिकायतों को निराकरण हेतु संबंधित अधिकारियों को प्रेषित किया जाता है एवं अधिकारियों द्वारा निराकरण के पश्चात नागरिकों को निराकरण से अवगत भी कराया जाता है।

नागरिक 181 के अलावा स्वयं सीएम हेल्पलाइन पोर्टल www.cmhelpline.mp.gov.in के माध्यम से भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। सीएम हेल्पलाइन 181 पर नागरिकों द्वारा विभिन्न प्रकार की सेवाओं के संबंध में कॉल किए जाते हैं इनमें से प्रमुख हैं।

शासकीय योजनाओं की जानकारी, शिकायत विषयक, मांग एवं सुझाव, भ्रष्टाचार सम्बन्धी शिकायत निराकरण की जानकारी सम्बन्धी एवं आय प्रमाणपत्र, मूल निवासी प्रमाणपत्र, चालू नक्शा, चालू खसरा खतौनी की प्रतिलिपियों के लिए आवेदन सीएम हेल्पलाइन की विशेष पहल के रूप निम्नलिखित सेवाओं को सीएम हेल्पलाइन से जोड़ा गया है।

सीएम जनसेवा

इस योजना के तहत अब नागरिकों को दैनिक जीवन सर्वाधिक उपयोगी लोक सेवा गारंटी अधिनियम की चिन्हित सेवाएं 181 पर कॉल माध्यम से प्रदान की जा रही हैं।

महिला हेल्पलाइन

महिलाओं से संबंधित अपराधों एवं समस्याओं में महिला की काउंसिलिंग कर तत्काल राहत पहुंचाने के लिए महिला हेल्पलाइन को सीएम हेल्पलाइन से जोड़ा गया है।

CPGRAMS पोर्टल

केंद्र सरकार के इस पोर्टल को सीएम हेल्पलाइन पोर्टल से जोड़ा गया है। जिससे अब CPGRAMS पोर्टल से प्राप्त शिकायतों को सीएम हेल्पलाइन नम्बर 181 पर दर्ज कर निराकरण की कार्यवाही की जा रही है।

WhatsApp की सुविधा

WhatsApp नंबर 7552555582 के माध्यम से नागरिकों को उनके द्वारा की गई की स्थिति की जानकारी एवं योजनाओं की जानकारी प्रदान करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

Scroll to Top