ग्रामीण बेरोजगार युवाओं के लिए ग्रामीण कौशल योजना

दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना, ग्रामीण बेरोजगार युवाओं के लिए केंद्र एवम राज्य सरकार के सहयोग से संचालित रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण योजना है जो विशिष्ट रूप से ग्रामीण गरीब परिवारों के 18 से 35 वर्ष के बीच के युवाओं पर ध्यान केंद्रित करती है। इस योजना के अंतर्गत युवाओं के कौशल विकास और आजीविका के अवसरों में वृद्धि कर उनकी गरीबी दूर करने का प्रयास करना है।

दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना (डीडीयू-जीकेवाय)

मध्य प्रदेश में पंचायत एवम ग्रामीण विकास विभाग के अंर्तगत मध्य प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा इस योजना के तहत ग्रामीण गरीब परिवारों के युवाओं को 3 से 6 माह की लघु अवधि के निःशुल्क आवासीय प्रशिक्षणों के माध्यम से बाजार में मांग के अनुरूप कौशल उन्नयन कर विभिन्न उद्योगों एवम सेवा क्षेत्रों से जोड़ा जा रहा है।

आजीविका मिशन द्वारा डीडीयू जीकेदाय के अंतर्गत बाजार में उपलब्ध रोजगार के अवसरों की पहचान कर युवाओं को संवहनीय आजीविका, रोजगार एवम स्व रोजगार से जोड़ने का कार्य निरंतर किया जा रहा है। विशेषताएं 1. नि.शुल्क रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण / पोशाक व पाठ्य सामग्री / रहने व खाने की सुविधा ।

प्रशिक्षणोपरांत प्रमाणीकरण

प्रशिक्षण हेतु पात्रता

  1. मध्यप्रदेश का ग्रामीण युवा
  2. गरीब परिवार संबंधी साक्ष्य
  3. आयु 18 से 35 वर्ष
  4. आठवी पास या ट्रेड में निर्धारित शैक्षणिक योग्यता

आवश्यक दस्तावेज

  1. पहचान
  2. आयु प्रमाणपत्र
  3. शैक्षणिक प्रमाणप
  4. मूल निवासी प्रमाणपत्र
  5. SECC 2011 सर्वे सूची /
  6. बीपीएल सूची में नाम
  7. जाति प्रमाणपत्र ।
Scroll to Top