ग्राम पंचायत विकास योजना के घटक

ग्राम पंचायत विकास योजना के संबंध में यह व्यवस्था की जायेगी कि ग्राम पंचायतों में उपलब्ध संसाधनों का प्राथमिकता के आधार पर उपयोग सुनिश्चित करते हुए सुविधाओं का समुचित वितरण किया जाएगा।

इसके पश्चात् ही अन्य कार्यों जैसे पुस्तकालय, वृक्षारोपण, बाल विकास, सहकारी समितियों, आपदा प्रबन्धन को सम्मिलित किया जायेगा। समस्त कार्यों एवं उत्तरदायित्वों के निर्वहन से ग्रामीण क्षेत्र में जीवन स्तर की गुणवत्ता में सुधार एवं मानव विकास सूचकांक को भी बेहतर करेगा।

संयुक्त पंचायत राज अधिनियम 1947 के अनुक्रम में तथा भारत सरकार द्वारा दिये गये निर्देशानुसार ग्राम पंचायतें प्रत्येक वर्ष दीर्घ कालीन विकास को ध्यान में रखते हुए ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार करेगी।

ग्राम पंचायत विकास योजना के अन्तर्गत 14वें वित्त आयोग, राज्य वित्त आयोग, मनरेगा, एन.आर.एल.एम. स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण), पंचायत भवन निर्माण, हमारी योजना हमारा विकास, अंत्येष्टि स्थलों का विकास तथा ग्राम पंचायत की स्वयं की आय का सम्मिलित करते हुए उपलब्ध वित्तीय एवं मानव संसाधनों का अभिसरण (कनवर्जेन्स) किया जायेगा।

ग्राम पंचायत को प्रतिवर्ष मिलने वाली योजनावार धनराशि पूर्णतः स्पष्ट होगी जिसकी जानकारी पूर्व ही ग्राम पंचायत को उपलब्ध करा दी जायेगी। ग्राम पंचायत विकास योजना पूर्णतः ग्राम पंचायत स्तर तैयार होगी। यह विकास योजना ग्राम पंचायत के समग्र विकास के लिये तैयार की जायेगी, जिसक क्रियान्वयन किया जाना ग्राम पंचायत के लिये अनिवार्य होगा।

ग्राम पंचायत को योजना बनाने के संबंध विस्तृत प्रशिक्षण दिया जाएगा। ग्राम पंचायत को तकनीकी सहायता प्रदान करने के लिये ग्राम पंचाय रिसोर्स ग्रुप का गठन क्लस्टर स्तर पर किया जाना है। 10 ग्राम पंचायतों के समूह को मिलाकर एक क्लस्ट बनाया जायेगा, जो कि एक समन्वयक इकाई की तरह कार्य करेगा और क्लस्टर के अन्तर्गत आने वाली पंचायतों को योजना बनाने में सहयोग प्रदान करेंगी।

जिलाधिकारी द्वारा प्रत्येक क्लस्टर पर एक प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया जायेगा। प्रदेश की सभी ग्राम पंचायतों द्वारा ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार किया जायेगा।

ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार करने एवं उससे संबंधित कार्य करने हेतु विभिन्न स्तर पर समितियों एवं ग्रुपों का गठन किया जायेगा यह ग्राम पंचायत विकास योजना स्मार्ट पंचायत की स्थापना के लिये संकल्पित रहेगी। इस ग्राम पंचायत विकास योजना को “स्मार्ट ग्राम-स्मार्ट पंचायत” योजना नाम से संबोधित किया जावेगा जिसमें निम्न घटक सम्मिलित होंगे

Scroll to Top