निःशक्त उपचार सहायता योजना

निःशक्त व्यक्तियों को विशेष साधन / उपकरण प्रदान योजना एवं शल्यक्रिया उपचार सहायता निःशक्त व्यक्ति (समान अवसर, अधिकार संरक्षण और पूर्ण भागीदारी) अधिनियम, 1995 में निःशक्त व्यक्तियों को सहायक यंत्र और उपकरण उपलब्ध कराने का प्रावधान है।

अतः निःशक्त व्यक्ति की पहचान कर उनकी शल्य चिकित्सा, कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण आदि उपलब्ध कराने के उद्देश्य से निःशक्त व्यक्ति जिन्हें अपना कार्य करने के लिये विशेष साधन / उपकरण की आवश्यकता हो को चिकित्सक की अनुशंसा के आधार पर कृत्रिम अंग / सहायक उपकरण उनकी कार्य क्षमता बढाये जाने के उद्देश्य से निःशुल्क / उपलब्ध कराये जाते है। जिसमें ट्राईसाइकिल, बैसाखी, कैलीपर्स, व्हीलचेयर एवं श्रवणयंत्र आदि है।

पात्रता की शर्तें

  1. म.प्र. का मूल निवासी हो। 2. 40 प्रतिशत या अधिक निःशक्तता हो।

53

  1. किसकी अनु
  2. स्पर्श पोर्टल पर नाम अंकित हो।

निर्धारित में पालक उपसंचालक, सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण दस्तावेज जगा करना आवश्यक है।

फोटो 2. (40 प्रतिशत या अधिक

  1. मूलनिवास 4. आय

जिला स्तर यातही स्तर पर या अन्यशिविरों के माध्यम से विशेषज्ञ द्वारा परीक्षण कराकर उनको लिए गये कृत्रिम अंग उपकरण पात्र हितग्राहियों को उपलब्ध कराये जाते है। छ वर्ष से अधिक आयु के बहुविकलांग और मानसिक रूप से अधिकसित निःशक्तजन के लिए सहायता

अनुदान योजना योजना का उददेश्य

10 वर्ष से अधिक आयु के बहुविकलांग और मानसिक रूप से अविकसित निःशक्तजनों के जो जीवकोपार्जन के लिये असमर्थ है, सहायता प्रदान करना है। ऐसे निःशक्तजनों की देखभाल करने में उनके माता पिता एवं परिवार सदस्यों को अत्यधिक कठिनाई का सामना करना पड़ता है।

ऐसे निःशक्तजनों को उनके जीविकोपार्जन हेतु रु 500/- प्रतिमाह सहायता अनुदान के रूप में दिये जाने से उन्हें विशेष आवश्यकता को पूर्ति करने हेतु सहयोग मिलेगा और यह उनके लिये आर्थिक सहायता होगी।

पात्रता की शर्त

  1. बहुविकलांग / मानसिक रूप से अविकसित निःशक्तजन को मध्यप्रदेश का मूलनिवासी होना

चाहिये। 2. 8 वर्ष से अधिक आयु होने संबंधी आयु प्रमाण पत्र होना चाहिये। 3. निःशक्त व्यक्ति (समान अवसर, अधिकार संरक्षण और पूर्ण भागीदारी) अधिनियम 1995 के

अनुसार अपनी निःशक्तता के संबंध में प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा जिस में निःशक्तजन को बहुविकलांग / मानसिक रूप से अधिकसित होने का वर्णन अनिवार्य हो।

आवेदक द्वारा निर्धारित प्रारूप में योजना के लिये आवश्यक निम्नलिखित दस्तावेजों सहित आवेदन ग्राम

पंचायत /जनपद पंचायत / लोक सेवा केन्द्र में जमा किया जा सकता है

  1. आयु प्रमाण पत्र 2. मध्यप्रदेश का मूल निवासी प्रमाणपत्र
  2. निःशक्त व्यक्ति (समान अवसर, अधिकार संरक्षण एवं पूर्ण भागीदारी) अधिनियम 1995 के अनुसार अपनी निःशक्तता के संबंध में प्रमाण पत्र, जिसमें निःशक्तजन को बहुविकलांग / मानसिक रूप से अविकसित होने का वर्णन अनिवार्य हो।
Scroll to Top